You are here
Home > राजनीति चौसर > दम ख़म > बैडमिंटन: चीन ओपन में सायना, सिंधु की विजयी शुरुआत

बैडमिंटन: चीन ओपन में सायना, सिंधु की विजयी शुरुआत

बैडमिंटन: चीन ओपन में सायना, सिंधु की विजयी शुरुआत

फुझोऊ (चीन)। भारत की शीर्ष महिला बैडमिंटन स्टार सायना नेहवाल और पी. वी. सिंधु ने विजयी आगाज करते हुए बुधवार को चीन ओपन के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया, वहीं भारत के शीर्ष पुरुष खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत को पहले ही दौर में हार झेलनी पड़ी। शीर्ष वरीय सायना के लिए हालांकि पहले दौर का मुकाबला आसान नहीं रहा। सायना ने 49 मिनट तक चले मुकाबले में चीन की अपनी प्रतिद्वंद्वी सुन यू को 22-20, 21-18 से हराया। घरेलू दर्शकों के बीच सुन यू ने मैच की ऊंचे मनोबल के साथ शुरुआत की और एक समय सायना पर 13-10 से बढ़त बना ली। सुन यू से 14-18 से पीछे चल रहीं सायना ने इसके बाद बेहतरीन वापसी की और लगातार छह अंक लेते हुए स्कोर 20-18 कर लिया और अंततः 22-20 से गेम अपने नाम करने में सफल रहीं। पहला गेम जीतने के बाद सायना दूसरे गेम में अधिक नियंत्रण में दिखीं, हालांकि सुन यू ने अच्छी टक्कर देते हुए एक समय स्कोर 15-15 से बराबर कर लिया।
हालांकि सायना ने इसके बाद लगातार चार अंक हासिल किए और सुन यू के दोबारा संघर्ष पर विराम लगाते हुए मैच सीधे गेमों में जीत लिया। सायना अब दूसरे दौर में मलेशिया की ती जिंग यी से भिड़ेंगी। भारत की दूसरे नंबर की महिला खिलाड़ी सिंधु को हाालांकि पहले दौर का मैच जीतने में खास मुश्किल नहीं हुई। सिंधु ने रूस की सेनिया पोलीकोर्पाेवा को मात्र 28 मिनट में 21-14, 21-9 से मात दे दी। पोलीकार्पाेवा पूरे मैच में कहीं सिंधु के आगे नहीं टिक सकीं। सिंधु के लिए हालांकि दूसरे दौर का मुकाबला कठिन होने वाला है, जहां उन्हें पांचवीं वरीय चीन की शिजियान वांग का सामना करना होगा। पुरुष एकल वर्ग में हालांकि भारत को गत चैम्पियन श्रीकांत के रूप में बड़ा झटका लगा। पांचवें वरीय श्रीकांत को पहले दौर के मुकाबले में हांगकांग के हु युन ने 38 मिनट में 21-12, 21-18 से हरा दिया। अजय जयराम भी सर्वाेच्च विश्व वरीयता प्राप्त चीन के चेन लोंग के आगे बिल्कुल नहीं टिक पाए और पहले दौर का मुकाबला 12-21, 11-21 से हार गए। पुरुष एकल वर्ग में भारत को दिन की तीसरी असफलता एच. एस. प्रन‚य के रूप में मिली। प्रन‚य ने चीन के अपने प्रतिद्वंद्वी गुओ काई को बेहद कठिन चुनौती दी और उन्हें एक घंटा चार मिनट तक संघर्ष करने के लिए मजबूर किया। हालांकि प्रन‚य का संघर्ष तीन गेमों में समाप्त हुआ और उन्हें 14-21, 21-17, 19-21 से हार झेलनी पड़ी।

Leave a Reply

Top
%d bloggers like this: