You are here
Home > राजनीति चौसर > आपका शहर > जोमासर मार्शल आर्ट कार्यक्रम में दिखाए गए हैरतअंगेज करतब

जोमासर मार्शल आर्ट कार्यक्रम में दिखाए गए हैरतअंगेज करतब

जोमासर मार्शल आर्ट कार्यक्रम में दिखाए गए हैरतअंगेज करतब

कानपुर देहात 28 फरवरी(ब्यूरो)। पुखरांयाॅं अहरौली ग्राम के निकट निर्माणाधीन एकता गार्डन के प्रांगण में विनर मार्शल आर्ट एकेडमी द्वारा आयोजित कुकरी बेल्ट टेस्ट के छात्र-छात्राओ द्वारा जोमासर मार्शलआर्ट के तहत कुकरी कराटे का आकर्षक प्रदर्शन किया गया। प्रशिक्षार्थी बालिकाओं द्वारा आत्मरक्षा के नए-नए हैरत अंगेज करतब देख दर्शक मन्त्र मुग्ध हो गए। बनारस से आए इमरान जोमासर तथा सुजात हुसैन ने विभिन्न विकासखण्डों से आए कन्यापूर्व माध्यमिक विद्यालय राजपुर डेरापुर सरवनखेड़ा अमरौधा रसूलाबाद आदि छात्र छात्राओं की परीक्षा ली। परीक्षा में उत्तीर्ण छात्र छात्राओं को मेडल व प्रमाणपत्र व चेस्टगार्ड देकर नवाजा गया एवं उत्साहवर्धन हेतु मुख्य अतिथि सहायक निदेशक सूचना प्रमोद कुमार ने जोमासर मार्शलआर्ट का प्रदर्शन करने वाली छात्राओं को विनर मार्शल आर्ट एकेडमी के प्रमाण पत्र देकर उत्साहवर्धन किया। उन्होने कहा कि कराटे मार्शल आर्ट की भांति जोमासर मार्शल आर्ट आज के युग मे सुरक्षा की नजर से अत्यन्त महत्वपूर्ण है। जोमासर मार्शल आर्ट का प्रदर्शन करनी वाली छात्राओं के भविष्य की उज्जवल कामना करते हुए कहा कि वे पढ़ाई के साथ साथ मार्शल आर्ट मे पारंगत होकर अपना, समाज व देश का नाम रोशन करेंगे। विनर मार्शल आर्ट एकेडमी के अध्यक्ष मो0 “शकील खान ने बताया कि ये जिला स्तरीय जोमासर मार्शल आर्ट चैम्पियनशिप जनपद का प्रथम कार्यक्रम है जिसमें जनपद के दसों विकासखण्डों के छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया है। स्कूल एसोसिएशन आॅफ इण्डिया नई दिल्ली द्वारा विगत माह इण्टरनेशनल कराटे चैम्पियनशिप हैदराबाद/दिल्ली आदि सहित कई दूर दराज के “शहरों में आयोजित आयोजित हुई थी जिसमे दर्जनों बच्चो ने अच्छा प्रर्दशन कर विजेता बनकर पदक लेकर आए थे जिन्हें तत्कालीन जिलाधिकारी द्वारा सम्मानित किया गया था। सहायक निदेशक सूचना ने विनर मार्शल आर्ट एकेडमी के अध्यक्ष मो0 “शकील खान कोे छात्र छात्राओ बेहतर प्रशिक्षण देने के लिए एकेडमी के संचालक “शकील खान का उत्साहवर्धन किया कि वे कमजोर वर्ग के छात्र-छात्राओं जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है उन्होंने प्राथमिकता के तौर पर रियायती “शुल्क लेकर प्रशिक्षित करें। संस्था द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा की गयी। कार्यक्रम का “शुभारम्भ सहायक निदेशक सूचना प्रमोद कुमार ने दीप प्रज्जवलित कर किया। बनारस से आए जोमासर कला के मास्टर इमरान व “शकील खान ने बताया कि इस मार्शल आर्ट का प्रयोग सेकेण्ड वि”व युद्ध के दौरान किया गया था जिसमें कुकरी, खुकरी, कुखरी आदि का प्रयोग आत्मरक्षा के लिए किया गया था। इस अन्तर्राष्ट्रीय खेल की भारत में उपज हुई थी। जोमासर में कुकरी तीन प्रकार की होती है। इसका अन्तर्राष्ट्रीय हेड आफिस ओल्ड हासिमारा जलपाईगुडी वेस्ट बंगाल में है। इसमें इण्डिया के साथ ही ब्राजील नेपाल पाकिस्तान, भूटान बंाग्लादेश बर्मा, थाईलैण्ड, सउदीअरब, चीन आदि देश इसका प्रदर्शन देखकर अपनाने की ओर बढ रहे हैं। आत्मरक्षा के लिए भारत में भी इसका उज्जवल भविष्य है। इस मौके पर सुजात हुसैन, जीशान कृष्णा अर्पित कु”ावाहा ”िाल्पी आदि ने भी जोमासर मार्शल आर्ट के बारे में विस्तार से बताया। इस मौके पर एकेडमी को जोमासर संस्था द्वारा 50 चेस्ट गार्ड भी दिए गए।

Leave a Reply

Top
%d bloggers like this: