You are here
Home > कारोबार

सेंसेक्स में 5 अंकों की गिरावट

मुंबई, 17 मार्च । देश के शेयर बाजारों में गुरुवार को मिला-जुला रुख रहा। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 5.11 अंकों की गिरावट के साथ 24,677.37 पर और निफ्टी 13.80 अंकों की तेजी के साथ 7,512.55 पर बंद हुआ। बंबई स्ट‚क एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 169.70 अंकों की तेजी के साथ 24,852.18 पर खुला और 5.11 अंकों या 0.02 फीसदी गिरावट के साथ 24,677.37 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 24,948.30 के ऊपरी और 24,576.52 के निचले स्तर को छुआ।नेशनल स्ट‚क एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 58.65 अंकों की तेजी के साथ 7,557.40 पर खुला और 13.80 अंकों या 0.18 फीसदी तेजी के साथ 7,512.55 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 7,585.30 के ऊपरी और 7,479.40 के निचले स्तर को छुआ। बीएसई के मिडकैप और स्म‚लकैप सूचकांकों में हालांकि तेजी का रुख रहा। मिडकैप 53.07 अंकों की तेजी के साथ 10,232.92 पर और स्म‚लकैप 6.73 अंकों की तेजी के साथ 10,245.98 पर बंद हुआ। बीएसई के 19 में से 12 सेक्टरों में तेजी रही। तेल एवं गैस (2.26 फीसदी), आधारभूत सामग्री (1.28 फीसदी), पूंजीगत वस्तु (1.08 फीसदी), सूचना प्रौद्योगिकी (0.88 फीसदी) और प्रौद्योगिकी (0.88 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। बीएसई के गिरावट वाले सेक्टरों में प्रमुख रहे स्वास्थ्य सेवा (1.24 फीसदी), रियल्टी (0.94 फीसदी), वित्त (0.27 फीसदी), वाहन (0.19 फीसदी) और उपभोक्ता गैर अनिवार्य वस्तु एवं सेवाएं (0.12 फीसदी)।

शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में गिरावट

मुंबई, 09 मार्च। देश के शेयर बाजार के प्रमुख सूचकांकों में बुधवार सुबह गिरावट का रुख देखने को मिल रहा है। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 9.18 बजे 158.10 अंकों की गिरावट के साथ 24,501.13 पर और निटी भी लगभग इसी समय 48.35 अंकों की गिरावट के साथ 7,436.95 पर कारोबार करते देखे गए। बंबई स्टाॅक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 131.96 अंकों की गिरावट के साथ 24,527.27 पर खुला, जबकि नेशनल स्टाॅक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निटी 49.2 अंकों की गिरावट के साथ 7,436.10 पर खुले।

 

क्राॅम्पटन विदेशी बिजली पारेषण उपकरण कारोबार बेचेगी

मुंबई, 09 मार्च । क्राॅम्पटन ग्रीव्स अपना विदेशी बिजली पारेषण उपकरण कारोबार एक अमेरिकी प्राइवेट इक्वि टी फंड को 11.5 करोड़ यूरो में बेचेगी। कंपनी ने बुधवार को शेयर बाजारों में दी गई नियामकीय सूचना में यह जानकारी दी। कंपनी ने अपने बयान में कहा कि वह यूरोप, उत्तर अमेरिका और इंडोनेशिया में स्थित अपना बिजली पारेषण उपकरण कारोबार अमेरिकी प्राइवेट इक्वि टी फंड ‘फस्र्ट रिजर्व इंटरनेशनल लिमिटेड‘ को बेचेगी। कंपनी पंखे, एयर कूलर और बिजली पारेषण उपकरणों का निर्माण करती है। कंपनी के बयान में कहा गया है, ‘इस बिक्री से कंपनी अपना कर्ज घटाकर भारतीय कारोबार पर अधिक ध्यान दे पाएगी। कंपनी शेयरधारकों के संपत्ति का मूल्य बढ़ाने के लिए अपने अन्य अंतर्राष्ट्रीय बी2बी कारोबार को बेचने की संभावना पर भी विचार जारी रखेगी।‘ कंपनी के शेयर बंबई स्टाॅक एक्सचेंज में दोपहर करीब दो बजे 7.42 फीसदी तेजी के साथ 149.90 रुपये पर कारोबार करते देखे गए।

शेयर बाजार: आर्थिक आंकड़े पर रहेगी निवेशकों की नजर

मुंबई, 06 मार्च। देश के शेयर बाजारों में अगले सप्ताह प्रमुख आर्थिक आंकड़े पर निवेशकों की नजर बनी रहेगी। सोमवार सात मार्च 2016 को महाशिवरात्रि के मौके पर बाजार बंद रहेगा। इसके साथ ही संसद के बजट सत्र की गतिविधियों, वैश्विक रुझानों, विदेशी पोर्टफोलियो निवेश (एफपीआई) और घरेलू संस्थागत निवेश (डीआईआई) के आंकड़ों तथा डाॅलर के मुकाबले रुपये की चाल व तेल कीमतों पर भी निवेशकों की नजर बनी रहेगी। संसद का बजट सत्र मंगलवार 23 फरवरी को शुरू हो चुका है। सत्र 13 मई को समाप्त होगा। इस बीच 17 मार्च से 23 अप्रैल तक सत्रावकाश होगा। सरकार शुक्रवार 11 मार्च को जनवरी 2016 के लिए औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े जारी करेगी। वैश्विक मोर्चे पर एशियाई बाजार सोमवार सात मार्च को फरवरी महीने के लिए अमेरिकी गैर-.कृषि रोजगार दर के आंकड़े पर प्रतिक्रिया करेगा। मंगलवार 8 मार्च को जापान चैथी तिमाही के लिए विकास दर का संशोधित आंकड़ा जारी करेगा। प्रारंभिक अनुमान के मुताबिक चैथी तिमाही में देश का जीडीपी 1.4 फीसदी घट गया है। गुरुवार 10 मार्च 2016 को यूरोपीय केंद्रीय बैंक (ईसीबी) के शासकीय परिषद की बैठक होगी, जिसमें ब्याज दर और राहत कार्यक्रमों की समीक्षा की जाएगी।

आम बजट से व्यापारियों में निराशा: टण्डन

सहारनपुर 01 मार्च (ब्यूरो)। उ.प्र.उद्योग व्यापार मण्डल की जिला इकाई के प्रमुख पदाध्किारियों की स्थानीय रेलवे रोड पर आम बजट समीक्षा बैठक में व्यापारी प्रतिनिध्यिों ने बजट के प्रति निराशा व्यक्त की। व्यापार मण्डल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व जिलाध्यक्ष शीतल टण्डन ने कहा कि गत दिवस लोकसभा में वर्ष 2016-17 के केन्द्रीय बजट में वित्त मंत्राी अरूण जेटली ने गांव किसान, मजदूर, गरीब, युवा व महिलाओं व समाज के दूसरे वर्गों के कल्याण के लिए जो भारी भरकम घोषणाएं की हैं, व्यापार मण्डल उसका स्वागत करता है परंतु इसके साथ ही जिस प्रकार से एक योग्य वित्त मंत्राी ने देश के व्यापार जगत की मांगों की अनदेखी की है, उसे व्यापार जगत में निराशा है। आयकर की छूट सीमा नहीं बढायी गयी केवल पांच लाख रूपये तक की आमदनी पर 3000 रूपये की टैक्स की छूट की घोषणा ऊंट के मंुह में जीरे के समान है। केन्द्र सरकार द्वारा 1994 में तीन वस्तुओं पर पांच प्रतिशत का सेवाकर लगाने की शुरूआत के बाद आज 119 से भी अध्कि सेवाओं पर सेवा कर लागू है और बजट में उसकी दर भी बढ़ा दी गयी हैं जबकि व्यापार मण्डल की यह मांग थी कि सेवाकर का दर व दायर कम किया जाये। सहारनपुर के विश्व प्रसिद्ध काष्ठ कला उद्योग की अनदेखी की गयी और पश्चिमी उ.प्र. के लिए बजट में कुछ भी खास न होने से निराशा है। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि सहारनपुर जनपद उ.प्र. व केन्द्र के खजाने में सालाना क्रमशः 14 अरब व 30.5 अरब यानि की कुल 44.5 अरब रूपये का योगदान विभिन्न करों के रूप में करता है। श्री टण्डन ने प्रधनमंत्री व वित्तमंत्री से मांग की कि केन्द्रीय बजट में 1948 से पाकिस्तान की तरफ बंटवारे के समय का 300 करोड़ रूपये वसूल किये जाने के लिए भी प्रभावशाली कदम उठाये जाने चाहिए। उन्होंने वित्तमंत्री से मांग की कि लोकसभा में बजट के ऊपर बहस के दौरान कुछ संसोधन प्रस्तुत करके आयकर की छूट की सीमा को बढ़ाया जाये और व्यापारियों के लिए कल्याणकारी घोषणाएं की जाये।

Top