You are here
Home > श्रद्धांजलि

विधायक मोहम्मद इरफान की मृत्यु पर सीएम ने जताया शोक

लखनऊ 10 मार्च।मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज एक दुर्घटना में बिलारी, जनपद मुरादाबाद के विधायक मोहम्मद इरफान सहित अन्य लोगों की मृत्यु पर गहरा दुःख व्यक्त किया है।
श्री यादव ने कहा कि मोहम्मद इरफान एक समर्पित जनप्रतिनिधि थे। वे अपने क्षेत्र के विकास तथा जनता की समस्याओं के समाधान के लिए हमेशा तत्पर रहते थे। श्री इरफान के निधन से पार्टी ने एक निष्ठावान कार्यकर्ता खो दिया है।
मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्माओं की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने दुर्घटना में घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना भी की है।

मुलायम-अखिलेश ने संगमा और अशोक घोष के निधन पर जताया शोक

लखनऊ, 04 मार्च। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव और प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष पी.ए. संगमा तथा वरिष्ठ वामपंथी नेता अशोक घोष के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।
पी.ए. संगमा को लोकप्रिय नेता, कुशल प्रशासक और संसदीय व्यवस्थाओं का ज्ञाता बताते हुए दोनों नेताओं ने कहा कि संसद में हंगामों के बीच भी वे संयम से कार्य करते थे। उनके निधन से देश को क्षति हुई है। वहीं अशोक घोष को श्रद्धांजलि देते हुए दोनों नेताओं कहा कि पश्चिम बंगाल में वाम मोर्चा के गठन तथा सशक्त वामपंथी आन्दोलन को मजबूती देने में उनके योगदान को सदैव याद किया जाएगा।

 

निधन पर शोक जताया

सहारनपुर 26 फरवरी (ब्यूरो)। कांग्रेस के पी.सी.सी. सदस्य संजीव कौशल की माता जी के निधन पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने शोक व्यक्त कर भावभीनी श्रद्धाजंलि अर्पित की। गुरूद्वारा रोड स्थित जिला कार्यालय पर आयोजित शोक सभा में संजीव कौशल की माता जी श्रीमती सुशीला देवी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए भावभीनी श्रद्धाजंलि अर्पित की गयी। इस दौरान वरिष्ठ कांग्रेस नेता महेन्द्र तनेजा,नरेन्द्र शर्मा, संजय वालिया, इमरान कुरैशी, अशेक शारदा, राजकुमार सैनी, राजेन्द्र राजन, ध्र्मवीर जैन, मुर्सलीन उपर्फ मददा, मुकेश शर्मा, अजय शर्मा, ध्र्मपाल जोशी आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।
इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजकुमार घावरी के निधन पर भी शोक व्यक्त किया गया। जनता रोड स्थित जिला महासचिव अरविंद पालीवाल के आवास पर आयोजित शोकसभा में भारतीय वाल्मीकि ध्र्मसमाज के राष्ट्रीय मुख्य कोषाध्यक्ष अजय बिरला ने राजकुमार घावरी के निधन को दलित समाज के लिए भारी क्षति बताते हुए कहा कि उन्होंने सदैव ही अपना जीवन समाज को समर्पित कर दिया। युवाओं को उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए। इस दौरान रमेश डबराल, प्रवीन सौदाई, सूरज खेर, चै.तिलक राम, ओ.पी.कल्याण, सुनेश समर्पित, अंकुर गौतम, विनोद, अशोक कुमार, राजेन्द्र कुमार, पंकज बोहत आदि मौजूद रहे।

श्रद्धाभाव से मनायी गयी समाजसेवी गायत्री देवी की 11 वीं पुण्यतिथि

 

mataji jayanti00.......

 

कानपुर देहात/16 फरवरी। सहायक निदेशक सूचना प्रमोद कुमार की माता गायत्री देवी की 11वीं पुण्यतिथि सादगी व श्रद्धा के साथ माती सिविल लाइन्स में मनाई गई। उपस्थित जनों द्वारा उनके चित्र पर फूल माला अर्पित कर श्रद्धासुमन अर्पित कर उनके प्रति सम्मान प्रकट किया गया। इस मौके पर उपस्थित जनों ने महामानव गौतम बुद्ध का पंचशील भी सभी आगन्तुकों को स्मरण कराया और संकल्प दिलाया कि शिक्षा व अपने अधिकारों के प्रति जागरूकता ही माता गायत्री देवी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय स्टेट बैंक माती के “ााखा प्रबन्धक मनोज अग्निहोत्री ने गायत्रीदेवी के चित्र पर माल्र्यापण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि माता-पिता, बुजुर्गो के प्रति सेवा, आदर व सम्मान प्रकट करने से आत्मविश्वास, सकारात्मक सोच, राष्ट्रीय एकता, अखण्डता को बलवती करने का बल मिलता है। समाजसेवी गायत्री देवी ने अपने सीमित संसाधनो अपने परिवार व समाज के लोगो को विपत्तियों में भी चुनौतियों में अफसरो को खोजकर विकास करना व आगे बढ़ना सिखाया है। गायत्री देवी ने अ”िाक्षित होते हुए वे अपने पाॅचो पुत्र व एक पुत्री को सभी बहुओ को राजपत्रित अधिकारी के रूप में स्थापित किया है, तथा अपने आवास में रहने वाले अनेको किरायेदार, पास पडोसियो व रि”तेदारो के बच्चो को भी शिक्षा का महत्व बताया। उन्होंने जीवन सूक्ति के जरिए बताया कि ‘‘दो पल की जिन्दगी है, और इसे जीने के सिर्फ दो असूल बना लो। रहो तो फूलों की तरह, और बिखरो तो खु”ाबू की तरह’’।। करन सिंह परिहार ने बताया कि माताजी उस समय की भारत दे”ाम पार्टी से जिसका चुनाव चिन्ह किताब था, लखनऊ संसदीय क्षेत्र से सांसद प्रत्याशी के रूप चुनाव भी लड़ा था। इसी पार्टी से मोहनलाल गंज संसदीय क्षेत्र से राष्ट्रीय अध्यक्ष व चुनाव लड़ने वाले सांसद प्रत्याशी रहे इस समय मा0 न्यायमूर्ति के पद पर विराजमान है, जो देश व समाज की सेवाकर रहे है। जो गायत्री देवी तथा अपने माता पिता को अपना आदर्श मानते रहे है। ‘‘बहुत भीड़ है इस मोहब्बत के “शहर में, एक बार जो बिछड़ा, वो दोबारा नहीं मिलता’’।। सहायक निदेशक सूचना प्रमोद कुमार ने माता के चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित कर कहा माॅं के स्नेह का कोई मूल्य नहीं होता हैं। वे अक्सर कहा करती थी कि जीवन और मृत्यु के सफर के बीच में किये गये कार्य ही व्यक्तित्व स्थापित करते है। महत्वपूर्ण यह नही है कि जिन्दगी में कितने खुश हम है बल्कि यह है कि आपके व्यवहार से कितने लोग खुश है। समाजसेवी डा0 इन्द्रा राजेश ने कहा कि आज के सामाजिक परिवेश में जब मानवीय मूल्य गौड़ होते जा रहे है ऐसे में मानवीय मूल्यो की सुरक्षा सुढ़ता के लिए बुजुर्गो के विचारो व क्रिया कलापो को आत्मसात करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि आर0के0 अग्निहोत्री व के0एस0 परिहार, डा0 प्रांजलिदत्त द्वारा संकलित स्मृति”शेष माताजी के जीवन दर्शन व सिद्धान्तों पर आधारित जीवनवृत्त ‘‘दूर पथ का राही’’ “शीघ्र ही प्रकाशित होने वाली है। पुस्तक में जनपद के जाने माने वरि’ठ पत्रकार जय मिश्रा, हनुमान गुप्ता, विकासगुप्ता, रामनरेश त्रिपाठी, अनुराग “शुक्ला आदि के विचारों का भी संकलन है जिसके माध्यम से आम जनता के मध्य उनके जीवन व सिद्धान्तों के बारे में अवगत कराया जाएगा। प्रशान्त कटियार ने गायत्री देवी के कार्याे को बताते हुए कहा कि गायत्री देवी ने परिवार तथा अन्य जनो को अपने दीपक स्वयं बनो तथा सर्वागीण विकास कर देश व समाज का नाम रोशन करने का संदेश दिया। इस मौके पर अदनान इकबाल, रामप्रकाश वर्मा, सुनील गौतम, सु”ाील कुमार, नीरज चैरसिया, अमर ंिसंह, मनीष कुमार खरे, डा0 उमादत्त, सु”ाील कुमार, रमासिंह सहित अनेक जनांे ने गायत्री देवी के चित्र पर माल्र्यापण कर श्रद्धासुमन अर्पित किये।

लांस नायक हनुमंतप्पा के निधन से सीएम दुःखी

 

hanumanthappa....

लखनऊ, 11 फरवरी। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लांस नायक हनुमंतप्पा के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। एक शोक सन्देश में मुख्यमंत्री ने कहा कि हनुमंतप्पा की बहादुरी की जितनी तारीफ की जाए, कम है। उन्होंने अपने साहस से यह उदाहरण प्रस्तुत किया कि विषम परिस्थितियों में भी भारतीय सेना का जवान देश के लिए हर कुर्बानी देने को तैयार है। हनुमंतप्पा ने भारतीय सेना की गौरवशाली परम्परा को और अधिक ऊंचाइयों तक ले जाने का काम किया है। गौरतलब है कि सियाचिन में 6 दिनों तक 35 फीट बर्फ के नीचे दबे रहे लांस नायक हनुमंतप्पा को राहत एवं बचाव दल ने बाहर निकाला। उनका इलाज दिल्ली में सेना के रिसर्च एवं रेफरल अस्पताल में चल रहा था, जहां आज उन्होंने अंतिम सांस ली। सीएम अखिलेश ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना भी व्यक्त की है।

Top