You are here
Home > राजनीति चौसर > राजधानी लखनऊ > पेंटावैलेंट से शिशु मृत्यु दर में गिरावट की संभावना: मांझी

पेंटावैलेंट से शिशु मृत्यु दर में गिरावट की संभावना: मांझी

पेंटावैलेंट से शिशु मृत्यु दर में गिरावट की संभावना: मांझी

लखनऊ, 07 दिसम्बर। बच्चों के स्वस्थ जीवन को सुनिश्चित करने के लिए सोमवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन, स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों और यूनिसेफ के प्रतिनिधियों ने सोमवार को ‘पेंटावैलेंट वैक्सीन’ और ‘इनएक्टिवेटेड पोलियो वायरस वैक्सीन’ (आईपीवी) को लांच किया। दोनों वैक्सीन प्रदेश में नियमित टीकाकरण अभियान के अंतर्गत शुरू की जा रही है। इस बारे में सभी ने मीडिया कर्मियों से विस्तृत जानकारी भी साझा की।
इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री शंखलाल माझी ने कहा, ‘पेंटावैलेंट के आने के बाद शिशु मृत्यु दर में काफी गिरावट आने की संभावना है। लाभार्थी पूरी जानकारी के ज़रिये ही सरकार की स्वास्थ्य योजना से अपने बच्चों को प्रतिरक्षित कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि जनता के बीच टीकों के बारे में जागरूकता फैलाने में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण है।
चिकित्सा-स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के प्रमुख सचिव अरविंद कुमार ने कहा कि बच्चों में होने वाली 05 बड़ी बीमारियां जैसे डिप्थीरिया, टेटनस, काली खांसी, हिब और हिपेटाइटिस बी से बचाने के लिए पेंटावैलेंट वैक्सीन संरक्षण सुनिश्चित करेगी। दूसरी तरफ पोलियो के उन्मूलन के बाद ‘आईपीवी’ इसके पुनःदभाव को रोकने में मदद करेगी। यह वैक्सीन बच्चों को पोलियो से दुगनी सुरक्षा देगी। दोनों टीके नियमित टीकाकरण सत्रों के तहत राज्य की सरकारी स्वास्थ्य सेवायों के माध्यम से निशुल्क लगाये जायेंगे।
यूनिसेफ की सीएफओ निलोफर पौरजांद ने उत्तर प्रदेश सरकार के नियमित टीकाकरण कार्यक्रम में बच्चों के स्वास्थ्य को सुधारने के लिए यूनिसेफ हर संभव सहयोग करता रहेगा।

Leave a Reply

Top
%d bloggers like this: